युवक की नदी में कूदने से मौत, पुलिस पर लगा मारने का आरोप

0
217

गोपालगंज: भोरे थाना क्षेत्र के कल्याणपुर मुसहर टोली में एक युवक की नदी में कूदने से मौत हो गई मृत का नाम प्रभु मण्डल पिता हिरालाल मण्डल ग्राम.कल्याणपुर मुसहर टोली थाना भोरे जिला गोपालगंज का पुत्र बताया जा रहा है.

घटना के संबंध में बताया जाता है कि रविवार की संध्या करीब 5:00 बजे भोरे थाने की पुलिस को सूचना मिली कि कल्याणपुर मुसहर टोली में शराब की बिक्री की जा रही है पुलिस ने सूचना के आधार पर गांव का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान प्रभु मण्डल को दारू बेचने के आरोप में हिरासत में लिया गया हिरासत में लेने के बाद वह पुलिस को धक्का देकर दौड़ते हुए कल्याणपुर हाई स्कूल के समीप नदी के पुल के पास आकर रुक गया जब देखा की पुलिस उसे पकड़ने के लिया आ रही है तो युवक ने पुल के ऊपर से छलांग लगा दी छलांग लगाने के बाद जब पुलिस फ़ोर्स उसे खोजने लगी तो युवक का कोई अता पता नहीं चला।
रात्रि बीतने के बाद जब सुबह नजदीकी श्रीपुर ओपी थाना.भोरे थाना,मीरगंज थाना. कटेया थाना एवं सभी थानों की पुलिस के साथ जिला से आई NDRF एनडीअरएफ टीम को बुलाया गया आने के बाद एनडीअरएफ की टीम शव को तलाशने की खोजबीन में जुट गई लगभग 20 घंटो की काफी खोजबीन के बाद सोमवार की दोपहर करीब 2:30 बजे घटनास्थल से लगभग 200 मीटर दक्षिण शव को एनडीआरएफ की टीम द्वारा युवक मृत बरामद कर लिया गया।
स्थानीय लोग एवं परिजन आरोप लगा रहे थे कि जब भोरे थाने की पुलिस शराब जांच के दौरान आई थी तो मृत को मारपीट कर झरही नदी में फेंक दिया हालांकि पदाधिकारी पर ऐसे आरोपों को बेबुनियाद बता रहे थे शव मिलने के बाद स्थानीय लोग ने श्रीपुर चरमोहनी पर शव को रखकरबारी मात्रा में प्रदर्शन करने लगे प्रदर्शन के दौरान आक्रोशित लोगों ने घटना स्थल पर आए पदाधिकारियों एवं पुलिस प्रसासन पदाधिकारियों पर लाठी डंडा एवं ईंट बरसात करने लगे। किसी तरह जान बचाकर भागने लगे आय अधिकारियों ने बताया कि स्थानीय लोग गलत भावना से प्रशासन के ऊपर लाठी डंडे के बरसात कर रहे हैं।मौके पर हथुआ एसडीएम अनिल कुमार रमन.डीएसपी अशोक कुमार चौधरी,भोरे थाना प्रभारी संजीत कुमार,भोरे अंचलाधिकारी जितेंद्र कुमार, भोरे प्रखण्ड प्रधिकारी पन्नालाल आदि का कहना था कि सरकारी फंड से जो भी मुआवजा राशि उपलब्ध होती है उसको 1 सप्ताह के अंदर मुहैया करा दी जाएगी। एसडीएम के अनुसार मुआवजे की राशि चार लाख देने के साथ त्वरित रूप से स्थानीय सीओ एवं बीडीओ कर्मचारी को आदेश दिया कि जो भी अंतिम संस्कार करने के लिए रुपए सरकारी फंड द्वारा आते हैं उसे त्वरित से मृतक के परिजन को मुहैया कराई जाए। बाद में किसी तरह पदाधिकारी ,स्थानीय प्रतिनिधियो,द्वारा समझा-बुझाकर स्थानीय लोगों की मदद से किसी तरह शव को पोस्टमार्टम के लिए गोपालगंज भेजा गया।वही एसडीएम अनिल कुमार रमन ने कहा की पोस्टमार्टम रिपोट आने के बाद ही जो होगा अगर पुलिस प्रशासन की कमी होंगी तो उन पर कार्यवाही की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here