पुलवामा में जवानों पर हमले को ले कर जिले में शोक की लहर

0
292

पुलवामा आतंकी हमले के बाद जिले में शोक और आक्रोश की लहर 

गोपालगंज- पुलवामा में हुए CRPF जवानों पर घृणित फियादीन हमले को लेकर पुरे गोपालगंज जिले में शोक की लहर रही. प्रत्येक विधालय, शैक्षणिक संस्थान, राजनैतिक दल, स्वंयसेवी संगठनों सहित व्यवसायी और हर तबके के लोगों ने आक्रोश व्यक्त किया और कैंडल मार्च निकाला. आतंकी हमले को लेकर थावे बाज़ार से बस-स्टैंड तक ग्रामीणों और व्यवसायिओं ने कैंडल मार्च निकाला, इस दौरान पाकिस्तान मुरदाबाद नारों के साथ सैनिकों को भावविहीन श्रधान्जली दी  गयी. ग्रामीणों का कहना था की- सेना के कैम्पों पर हमले के बाद गुरुवार के दिन दिल दहला देने वाली फियादीन हमले की सुचना मिली, जिसमें 42 जवान शहीद हो गये, तथा 20 से अधिक जवान घायल हो गये. हमारे जवान हमेशा याद किये जायेंगे. जिला मुख्यालय में कई राजनैतिक पार्टियों सहित स्वंय सेवी संगठनो और व्यवसायी वर्गों के साथ-साथ विधालय, शैक्षणिक संस्थानों के लोगों ने कैंडल मार्च निकाला. काफी देर तक यातायात सड़को पर कैंडल ले कर लोगों ने शोक व्यक्त किया. वही इस हमले को लेकर लोगों में आक्रोश व्याप्त है. लोग बदला लेने की बात कह रहे हैं. उधर केंद्र सरकार ने भी इस हमले में मारे गए शहीद को नम आंखों से याद कर के  कई अहम फैसले लिए हैं. जिले में अपनी चौदह सूत्री मांग को लेकर धरना पर बैठे गृह रक्षकों ने धरना प्रदर्शन के ही दौरान दो मिनट का मौन रख कर अवन्तिपुरा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को अपनी श्रधान्जली अर्पित की. इस दौरान सरकार से CRPF के जवानों पर आतंकी हमला करने वालों से बदला लेने की मांग की गयी. इससे पूर्व गृह रक्षकों ने अपनी मांगों को लेकर विचार-विमर्श करते हुए सरकार विरोधी नारे लगाये.

हथुआ बाज़ार में भी शहीद जवानों को श्रधान्जली कैंडल मार्च निकाल कर दी गयी. सामाजिक न्यायमंच छात्र संघ हथुआ दलित ओबीसी जागरण मंच आदि संगठनों के बैनर तले मार्च में शामिल आक्रोशित युवाओं ने पाकिस्तान को मुह तोड़ जवाब देने की आवाज उठाई. वक्ताओं ने कहा की पडोसी-  पडोसी का साथ देने वाला एक और पडोसी देश ही असली दुश्मन है. जिसके दम पर ये पड़ोसी गीदड़भभकी देता है. मार्च में शिक्षक शशिभूषण भारती, जे पी यादव आदि लोग मौजूद रहे. उधर पुलवामा के आतंकी हमले में शहीद जवानों की याद में जिला राजद ने कैंडल मार्च निकला और उन्हें श्रधान्जली अर्पित किये. इसमें कुल 500 से अधिक लोग शामिल थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here