सरस्वती पूजा को लेकर तैनात दंडाधिकारी 65 dB से ज्यादे ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर लगी रोक

0
120

गोपालगंज- रविवार को विद्या की देवी माँ सरस्वती की पूजा अर्चना की जाएगी. माँ सरस्वती की पूजा अर्चना के दौरान पुरे जिले में कड़ी चौकसी रहेगी. पूजा तथा मूर्तियों के बिसर्जन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के लिए दंडाधिकारियों के अलावा पर्याप्त संख्या में जवान तैनात कर दिए गए हैं. इसके साथ ही प्रतिमा विसर्जन जुलुस के लिए रूट निर्धारित कर संवेदनशील स्थानों में कड़ी चौकसी बढाई गयी है. जिले में सैकड़ों पूजा पंडाल स्थापित कर माँ सरस्वती की पूजा अर्चना की जाती है. रविवार को सरस्वती पूजा को देखते हुए प्रशासनिक स्तर पर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गयी है. पूजा पंडालो के साथ ही आसपास के इलाकों में नजर रखने के लिए दिशा-निर्देश जारी किये गए हैं. सरस्वती पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन के दौरान प्रयाप्त संख्या में दंडाधिकारीयों को तैनात कर दिया गया है. संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर वहां अतरिक्त चौकसी बरतने का निर्देश भी जारी किया गया है. जिलाधिकारी अनिमेश कुमार परासर तथा पुलिस अधीक्षक राशी जमा ने सरस्वती पूजा को लेकर शांति समिति की बैठक आयोजित कर दिशा-निर्देश जारी किये हैं. धार्मिक अनुष्ठान और पूजा में बाधा डालने वाले पर कड़ी कार्यवाही के आदेश दिए गए हैं. इसके साथ ही बेगैर लाइसेंस के विसर्जन जुलुस निकालने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है. इस बार सरस्वती पूजा के अवसर पर मूर्ति विसर्जन के दौरान 65 dB (डेसिबल) से अधिक तीव्रता के ध्वनी विस्तारक यंत्र का उपयोग नही किया जाएगा. ये सारि जानकारी जिलाधिकारी अनिमेश कुमार परासर ने दी. उन्होंने बताया की ध्वनि विस्तार यंत्र के प्रयोग के सम्बन्ध में माननीय उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश का पूर्णतः पालन किया जायेगा. इस निर्देश का उलंघन  करने वाले पूजा पंडाल के आयोजकों, व्यवस्थापकों पर कानूनी कार्यवाही की जायेगी. इसमें किसी भी प्रकार के स्थिलता बरतने वाले पदाधिकारी तथा कर्मचारी पर भी कठोर कार्यवाही की जायेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here